Bookmark Now StudyGuru24.com

Annapurna Vrat Katha in Gujarati PDF Free Download


View And Download PDF


Name :
 Annapurna Vrat Katha in Gujarati
Uploaded :
 20 Apr 2022
File Size :
 444 kb
Downloads:
 4
Category :
 Vrat Katha ( व्रत कथा ) PDF
Description:
Annapurna Vrat Katha in Gujarati , Annapurna Vrat Katha PDF , Gujarati Annapurna Vrat Katha Gujarati PDF Download , Annapurna Vrat Katha in Gujarati PDF download link is available below in the article, download PDF of Annapurna Vrat Katha in Gujarati using the direct link given at the bottom of content..Annapurna Vrat Katha PDF Download in Gujarati for free using the direct download link given at the bottom of this article. मान्‍यता है कि जगत शिव और शक्ति का स्वरूप है जहां शिव विश्वेश्वर हैं और उनकी शक्ति मां पार्वती हैं। सृष्टि की रचना काल में पार्वती को ‘माया’ कहा जाता है और पालन के समय वही ‘अन्नपूर्णा’ नाम के नाम से जानी हैं, जबकि संहार काल में वे ‘कालरात्रि’ बन जाती हैं। पं. विजय त्रिपाठी ‘विजय’ के अनुसार पालन करने वाली अन्नपूर्णा का व्रत-पूजन दैहिक, दैविक, भौतिक सुख प्रदान करता है। अतः अन्न-धन, ऐश्वर्य, आरोग्य एवं संतान की कामना करने वाले स्त्री-पुरूषों को अन्नपूर्णा माँ का व्रत-पूजन विधिपूर्वक करना चाहिए। पूजन सामग्री, महूर्त और पूजन विधि अन्नपूर्णा षष्‍ठी की पूजा के लिए धूप, दीप, लाल फूल, रोली, हरे धान के चावल, अन्नपूर्णा देवी का चित्र या मूर्ती, रेशमी या साधारण सूत का डोरा, पीपल का पत्ता, सुपारी या ग्वारपाठा, तुलसी का पौधा, धान की बाल का कल्पवृक्ष, अन्न से भरा हुआ पात्र, करछुल, 17 पात्रों में बिना नमक के पकवान और गुड़हल या गुलाब जैसे पुष्‍पों की आवश्‍यकता होती है। यह पूजा शाम सूर्यास्त के बाद होती है, इस वर्ष यह शाम को पांच बजकर आठ मिनट से प्रारम्भ होगी। सारी सामग्री एकत्रित करके सफेद वस्त्र धारण कर पूजागृह में धान की बाली का कल्पवृक्ष बनायें और उसके नीचे भगवती अन्नपूर्णा की मूर्ति सिंहासन या चौकी पर स्थापित करे। उस मूर्ति के बायीं ओर अन्न से भरा हुआ पात्र तथा दाहिने हाथ में करछुल रखें। धूप दीप, नैवेद्य, सिन्दूर, फूल आदि भगवती अन्नपूर्णा को समर्पित करे। अपने हाथ के डोरे को निकालकर भगवती के चरणों में रख प्रार्थना करे। उसके बाद अन्नपूर्णा व्रत की कथा सुनें। गुरू को दक्षिणा प्रदान करें। 17 प्रकार के पकवानों का भोग लगाएँ। सुपात्र को भोजन करायें, उसके बाद रात में स्वयं भी बिना नमक का भोजन करें। You can download the Annapurna Vrat Katha 2020 in PDF format using the link given below.Annapurna Vrat Katha PDF Download Link..

More Study Materials

Special PDF Download 2022

Religion & Spirituality PDF » Vrat Katha ( व्रत कथा ) PDF
Tags: Latest PDF File Download For Annapurna Vrat Katha in Gujarati, PDF Free Download, Online Read This File And Book PDF, Study material, Exam notes,Available Print And Share Option of This File, Form PDF.Latest new PDF 2022, Annapurna Vrat Katha in GujaratiPDF Free Download From StudyGuru24.com Website
 
Online User: 2
Sitemap | Terms And Conditions | Report DMCA | Privacy Policy
StudyGuru24.com